मां बगलामुखी धाम गुलमोहर सिटी में हुआ श्री शनिदेव महाराज के निमित्त श्रृंखलाबद्ध हवन यज्ञ

  • By admin
  • October 2, 2021
  • 0
श्री शनिदेव महाराज

परोपकार से बडा कोई पुण्य नहीं : नवजीत भारद्वाज

जालंधर 2 अक्टूबर (मीनाक्षी)- मां बगलामुखी धाम गुलमोहर सिटी नजदीक लम्मां पिंड चौक में श्री शनिदेव महाराज के निमित्त श्रृंखलाबद्ध हवन यज्ञ का आयोजन मंदिर परिसर में किया गया। मां बगलामुखी धाम के संचालक एवं संस्थापक नवजीत भारद्वाज ने बताया कि पिछले 11 वर्षों से श्री शनिदेव महाराज के निमित्त हवन यज्ञ जो कि नाथां बगीची जेल रोड़ में हो रहा था इस महामारी के कारण वश अल्पविराम आ गया था अब यह हवन पिछले लगभग 10 महीने से मां बगलामुखी धाम गुलमोहर सिटी में आयोजित किया जा रहा है। सर्व प्रथम मुख्य यजमान संजीव शर्मा से वैदिक रीति अनुसार गौरी गणेश, नवग्रह, पंचोपचार, षोडशोपचार, कलश, पूजन उपरांत पंडित पिंटू शर्मा ने आए हुए सभी भक्तों से हवन-यज्ञ में आहुतियां डलवाई । इस सप्ताह श्री शनिदेव महाराज के जाप उपरांत मां बगलामुखी जी के निमित्त भी माला मंत्र जाप एवं हवन यज्ञ में विशेष रूप आहुतियां डाली गई। हवन-यज्ञ की पूर्णाहुति के उपरांत नवजीत भारद्वाज ने आए हुए भक्तों से अपनी बात कहते हुए बताया कि परोपकार से बड़ा कोई पुण्य नहीं है। गरीब, दीन-दुखियों की सहायता करना सबसे बड़ी सेवा है। धर्म और श्रद्धा में विश्वास रखना ही मानवता है। क्षणभर का क्रोध कभी-कभी जीवन का कलेश बन जाता है अर्थात उसी क्षण जिस क्षण क्रोध आए उस समय धैर्य से काम ले तो घटना टल जाती है। क्रोध की आयु क्षणभर होती है, मनुष्य को क्रोध और लोभ से बचना चाहिए अन्यथा जीवन नष्ट हो जाता है। नवजीत भारद्वाज ने आगे कहा कि हमें सनातन संस्कृति को बढावा देना व तिलक लगाना सीखना है। आज के युवा हमारी संस्कृति को छोड़कर दूसरी संगत में लग रहे हैं जैसे मदिरा पान करना एवं सुबह उठकर मोबाइल को चलाना, भजन-सत्संग नहीं करना। आज के बच्चों को बड़ों या हम उम्र के लोगों से अभिवादन में राम-राम या फिर जय माता दी कहने में शर्म आती है। हिंदू संस्कृति के लोग अपने धर्म को छोड़कर दूसरे धर्म में जा रहे हैं। इससे हमारा सनातन धर्म कमजोर हो रहा है। इसके लिए हमें हमारी संस्कृति को मजबूत करना होगा और हमें हिंदू भाइयों को हमारे धर्म के प्रति जागरूक करना होगा, तभी हम हमारे धर्म की रक्षा कर सकते हैं। इस अवसर पर श्री कंठ जज, गौरव कोहली, राजेंद्र गुप्ता,बलजिंदर सिंह,अमरजीत सिंह, मधुकर, गुलशन शर्मा, राकेश प्रभाकर, गोपाल मालपानी, अश्विनी शर्मा धूप वाले, मुनीश शर्मा, बलदेव शर्मा, अमरेंद्र शर्मा, मानव शर्मा, बावा खन्ना, विक्रांत शर्मा, रोहित मल्होत्रा, पं रमाकांत शर्मा, विवेक शर्मा,हितेश, रोहित बहल,शाम लाल, गुरबाज, एडवोकेट राज कुमार, मुकेश चौधरी, अभिलक्षय चुघ,सुनील,राजीव, अशीश अग्रवालराजन शर्मा, प्रिंस, राकेश, प्रवीण, दीपक ,अनीश शर्मा, संजीव राणा, सुनील जग्गी सहित भारी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे। सैनीटाइजेशन एवं सोशल डिस्टेंस का खास ध्यान रखा गया। आरती उपरांत प्रसाद रूपी लंगर भंडारे का भी आयोजन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *